dard bhari shayari

Dard Bhari Shayari, Painful Shayari in Hindi


उम्र कहती है चलो अब संजीदा हुआ जाए.. मन कहता है अब बची ही कितनी है.. चलो नादानियां कर लें…..!!


लोगों ने रोज ही नया कुछ माँगा खुदा से, एक हम ही हैं जो तेरे ख्याल से आगे न गये…!!


ख़ामोशी हालत का एहसास करा देती है, अल्फ़ाज़ क्या ख़ाक हक़ीक़त बयां करेंगे….!!


हमारी आँखों पर भरोसा कीजिये जनाब.. गवाही तो अदालतें माँगा करती हैं..!!


दर्द बयां करना है तो शायरी से कीजिए जनाब….लोगों के पास वक्त कहां…एहसासों को सुनने का….!!!


जिंदगी तुझसे हर कदम पर समझौता क्यों किया जाय… शौक जीने का है मगर इतना भी नहीं… कि मर मर कर जिया जाए…!!


तुम वो इबादत हो जिस में कट गई उम्र सारी. मैं फिर भी क़ाफ़िर हूँ तो क़ाफ़िर ही सही..!!


2 thoughts on “Dard Bhari Shayari, Painful Shayari in Hindi”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *